Header Ads

Header ADS

हरियाणा विधानसभा में गूंजे अवैध खनन, पानी के मुद्दे



चंडीगढ़, 
02 अगस्त, 2019

हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन सदन में दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि दी गई इसके बाद शुरू हुए प्रश्नकाल में हरियाणा में अवैध खनन और पानी का मुद्दा गूंजता रहा जिसको लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच खनन अतिक्रमण और पानी के मुद्दे को लेकर तीखी बहस हुई।

विपक्षी दल कांग्रेस व इंडियन नेशनल लोकदल ने मिलकर कई गांव में जल संकट का मुद्दा उठाया खासतौर पर जींद के नरवाना में पानी पर किसानों के आंदोलन का मुद्दा भी सदन में गूंजा. इसके अलावा अरावली की पहाड़ियों पर अवैध अतिक्रमण खनन के मुद्दे जोरदार तरीके से उठे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि फरीदाबाद गुड़गांव से लेकर यमुनानगर और अंबाला तक पूरे प्रदेश में अवैध खनन धड़ल्ले से चल रहा है लेकिन सरकार मौन है।

साथ ही रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मुद्दा उठाया कि हरियाणा के कई गांव में आज तक पेयजल की पुख्ता व्यवस्था नहीं है, यदि सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो कांग्रेस ग्रामीणों के साथ मिलकर आंदोलन खड़ा करेगी।

कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने इन तमाम आरोपों पर सरकार का बचाव किया और कहा कि विपक्ष सिर्फ मुद्दे ढूंढ रहा है, कई क्रेशर बंद करवा दिए गए हैं और अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए भी सरकार गंभीरता से काम कर रही है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मॉनसून सत्र सरकार का आखिरी सत्र है। उन्होंने कहा कि विपक्ष को बोलने नहीं दिया गया यह गलत है, क्योंकि विपक्ष को बोलने का समय पूरा दिया गया बल्कि सत्तापक्ष सबसे कम बोला है। बीजेपी के सभी मंत्रियों ने विपक्ष के सवालों में जबाब दिया है।

No comments

Powered by Blogger.