Header Ads

Header ADS

पुरानी रंजिश से संभावित हत्याओं पर अंकुश लगाने के लिए हरियाणा पुलिस की नई पहल



चंडीगढ़, 
3 जुलाई, 2019

पुरानी दुश्मनी के कारण संभावित हत्या की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए हरियाणा पुलिस द्वारा ऐसे सभी मामलों की मैपिंग शुरू की गई है जिसके तहत पुलिस रिपोर्ट में उपलब्ध जानकारी को संयोजित किया जाएगा ताकि ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं को रोकने के लिए एक रणनीति तैयार की जा सके।

यह अभियान 15 जुलाई, 2019 तक जारी रहेगा।


 
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि इस अभियान के तहत, पुलिस द्वारा व्यवस्थित रूप से पुलिस रिकॉर्ड का अध्ययन किया जाएगा और ऐसे मामलों की खुफिया जानकारी जुटाई जाएगी जहां अतीत की चली आ रही दुश्मनी के कारण हत्या या हमले की संभालना है।

उन्होंने कहा कि पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने सभी पुलिस आयुक्तों और जिला पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि वे ऐसे सभी मामलों की पहचान और विश्लेषण कर एक रणनीति पर काम करें जहां इस प्रकार की दुश्मनी होने के कारण गंभीर विवाद पैदा होने की संभावना हो सकती है। सभी अधिकारियों को इस विषय का अध्ययन करने और ऐसे संभावित मामलों के एक डेटाबेस को संकलित करने के लिए अपनी सीधी निगरानी में समर्पित पुलिस अधिकारियों की एक विशेष टीम की नियुक्ति करने के लिए कहा गया है। जानकारी संकलित करने के बाद, सभी संबंधित अधिकारी एसएचओ या अपराध टीमों के माध्यम से ऐसे मामलों को रोकने के लिए निरंतर प्रयास करेंगे। उन्होने उम्मीद जताई कि आने वाले दिनों में इस तरह की वारदातों पर अंकुश लगाने के सकारात्मक परिणाम सामने आएगें।

विर्क ने कहा कि इस प्रकार की घटनाएं अनपरिवेन्टेबल कैटेगिरी में आती हैं जहां एक बेहद छोटा मुद्दा अचानक एक बडी वारदात को आकार ले लेता है। कई जिलों में पिछले कुछ हफ्तों में हत्याओं के हालिया मामलों के विश्लेषण से पता चलता है कि मूल कारण अतीत की दुश्मनी है जो सालों से चली आ रही है और समय के साथ दोनों तरफ कई हत्याएं हो रही हैं। यहां तक कि ऐसे उदाहरण भी आए हैं जहां एक गैंग ने अपने प्रतिद्वंद्वी गिरोह के परिवार के सदस्यों या गवाहों को निशाना बनाया है। उन्होनें कहा कि यह गंभीर चिंता का विषय है और पुलिस इस पर काम कर रही है।

विर्क ने कहा कि ऐसे मामलों के बारे में पूर्व जानकारी जुटाने से अपराध को रोकने व बिना देरी के आपराधिक घटनाओं का पता लगाकर उन पर अंकुश लगाने में मदद मिल सकेगी।

No comments

Powered by Blogger.