Header Ads

Header ADS

भयंकर गर्मी: हरियाणा सरकार की प्रदेशवासियों से सावधानी बरतने की हिदायत



चंडीगढ़, 
2 जून, 2019

बढ़ती गर्मी और भयंकर लू तथा गर्म हवाओं के मद्देनजर  हरियाणा सरकार ने प्रदेश में  लोगों से  सावधानी बरतने  की हिदायते जारी की है।

राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बढ़ती गर्मी और भयंकर लू  के चलते शारीरिक तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। उन्होंने कहा कि जान के लिए खतरा बनने वाली हीटवेव से बचने के लिए सावधानियां बरतनी जरूरी हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि स्थानीय मौसम की भविष्यवाणी के लिए रेडियो सुनें, टीवी देखें व समाचार-पत्र पढ़ें ताकि अपने क्षेत्र में गर्मी की तीव्रता का अग्रिम पता चल सके। प्यास न होने पर भी पानी पीते रहें। घर से बाहर निकलते समय हल्के रंग के ढ़ीले व सूती कपड़े पहनें और यात्रा करते समय पानी साथ में रखें। धूप में निकलते समय सुरक्षात्मक काला चश्मा, छाता, पगड़ी, दुपट्टा, टोपी के लिए अलावा पैरों में जूते या चप्पल अवश्य पहनें। यात्रा करते समय अपने साथ पानी जरूर साथ लेकर चलें। यदि आप बाहर काम करते हैं तो एक टोपी या छतरी और अपने सिर, गर्दन, चेहरे के लिए एक गीले कपड़े का उपयोग करें।

सरकार की तरफ से सलाह दी गई है कि शरीर को पुन: हाईडे्रट करने के लिए घर में बने पेय पदार्थ जैसे लस्सी, नींबू पानी, छाछ आदि का उपयोग करें। अगर कमजोरी महसूस हो रही है, चक्कर आने या, सिरदर्द दौरे जैसे हीटस्ट्रोक, बेहोश या बीमार महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। 

उन्होंने बताया कि जानवरों के बचाव की भी सलाह दी है कि उनको छाया में रखें और उनको पीने के लिए भरपूर पानी दें। अपने घर को ठंडा रखें। धूप से बचने के लिए दिन के दौरान पर्दे,शटर का उपयोग करें और ठंडे पानी से नहाएं।

प्रवक्ता ने कहा कि अपने कार्य स्थल के पास भी ठंडा पानी रखें। श्रमिक स्थल के पास ठंडा पेयजल उपलब्ध होना चाहिए। श्रमिकों को प्रत्यक्ष सूर्य के समक्ष होने वाले कार्यों से बचाएं। कार्य के लिए दिन में कम तापमान वाले समय का चयन करें। बाहरी गतिविधियां कम करें। गर्भवती महिलाओं और श्रमिकों का चिकित्सकीय परामर्श की स्थिति में अतिरिक्त ध्यान देना चाहिए।

गर्मी से बचाव के तरीकों के बारे में आगे जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि खड़े किए हुए वाहनों में बच्चों या पालतू जानवरों को न छोड़ें। धूप में खासकर दोपहर 12 बजे से तीन बजे बीच बाहर जाने से बचें। ज्यादा भारी व काले एवं तंग कपड़े पहनने से बचें। उन्होंने बताया कि बाहरी तापमान अधिक होने पर कठोर मेहनत वाली गतिविधियों से बचें। अधिक गर्मी के समय खाना पकाने से बचें और खाना पकाने के क्षेत्र को पूरी तरह से हवादार बनाएं जिसके लिए दरवाजे व खिड़कियां खोल कर रखें। उन्होंने नसीहत दी कि शराब, चाय, कॉफी और कार्बोनेटिड शीतल पेय पीने से बचें, जो शरीर में पानी की कमी पेदा करते हैं। उन्होंने कहा कि उच्च प्रोटीन वाले बासी भोजन का सेवन न करें।

No comments

Powered by Blogger.