Header Ads

Header ADS

कांग्रेस की अंतर्कलह पर खट्टर की चुटकी: "गुटबाजी में बंटी पार्टी को एकजुट कर बस में बैठाया, कौन कहां से चढ़ा, कहां उतरा, किसी को पता नहीं"



चंडीगढ़,
05 अप्रैल, 2019

हाल ही में 'परिवर्तन बस यात्रा' से प्रदेश की दसों लोकसभा क्षेत्रों का दौरा कर एकता का दावा करने वाली हरियाणा कांग्रेस की अंतर्कलह पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राजनीतिक चुटकी ली है।



कांग्रेस की आपसी कलह पर तंज़ कसते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि कांग्रेस के हरियाणा प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने गुटबाजी में बंटी कांग्रेस को एकजुट करने के लिए बस में बैठाया, लेकिन कौन कहां से चढ़ा और कहां उतरा किसी को पता नहीं।

कांग्रेस में फूट के ताज़ा उदहारण के तौर पर मुख्यमंत्री खट्टर ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी को लेकर कांग्रेस में मचे घमासन पर निशाना साधते हुए कहा है कि इनेलो के दो विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद इनेलो से नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी छिन गई लेकिन कांग्रेस आपसी कलह की वजह से नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी को संभाल नहीं पा रही है।

सीएम खट्टर ने कहा है कि कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने नेता प्रतिपक्ष का दावा किया, लेकिन उनके प्रदेशाध्यक्ष ने उनके दावे को नकारते हुए कहा कि उनके पत्र लिखने से क्या होता है। इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस सीएम की कुर्सी भी केवल ख्वाबों में ही देख रही है।

गौरतलब है कि आपसी फूट प्रदेश कांग्रेस में कोई नई बात नहीं है और मतभेदों व नेतृत्व को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में मन-मुटाव अक्सर देखा गया है। पूर्व कांग्रेस सरकार में अजय सिंह यादव, किरण चौधरी व कुमारी सैलजा गुट व पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा गुट में मतभेद काफी चर्चित थे जबकि पिछले काफी दिनों से हुड्डा व वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर के बीच 'शीत युद्ध' (cold war) चला आ रहा है जिसके चलते दोनों के समर्थक कईं मौकों पर आपस में भिड़े भी चुके हैं।



किन्तु हाल ही में पार्टी की तरफ से 'परिवर्तन बस यात्रा' के दौरान प्रदेश यूनिट में एकता का दावा कर विरोधी माने जाने वाले नेताओं को साथ-साथ बस में यात्रा करवाई गई व मंच साँझा करवाया गया। अब ऐसे में मुख्यमंत्री खट्टर का चुटकी लेना हरियाणा कांग्रेस की 'तथाकथित' एकता पर सवाल खड़े करता है।



कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.