Header Ads

Header ADS

अफ्सपा समीक्षा को लेकर राहुल गांधी की पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से तुलना, बराला ने कांग्रेस पर लगाए गंभीर आरोप



चंडीगढ,
02 अप्रैल, 2019

लोकसभा चुनावों के मद्देनजर कांगे्रस द्वारा जारी किए गए घोषणापत्र में जम्मू एंव कश्मीर से सशस्त्र सेना विशेषाधिकार कानून (Armed Forces Special Powers Act - AFSPA) पर समीक्षा के वायदे पर हरियाणा बीजेपी द्वारा तीखी आलोचना करते हुए इसके प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान की जुबां बोलने का आरोप लगाया है।

आज यहां पत्रकारों से रूबरू होते हुए बराला ने कहा, "अफ्सपा हटाने का कांग्रेस का वायदा देश की सुरक्षा पर क्रूरतम है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान की जुबां बोल रहे हैं। अफस्पा हटाने का वायदा कर कांग्रेस ने जहां सेना के अधिकारों पर शिकंजा कसने का नापाक सपना देखा है, वहीं इससे कांग्रेस का आतंकवाद समर्थित चेहरा अब बेनकाब हो गया है।"

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में देश के सामने दो विचारधारा हैं, जिसमें एक विचारधारा के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं जो देश की आंतरिक एवं बाहरी सुरक्षा को पुख्ता करने वाली सरकार दे रहे हैं जबकि दूसरी विचारधारा उन लोगों (कांग्रेस) की है, जो देश की अखंडता की कीमत पर सरकार बनाने के लिए लालायित हैं।

कांग्रेस द्वारा जारी किए गए घोषणापत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए बराला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार सेना के शौर्य एवं जवानों की शहादत का अपमान करती आई है और आज के घोषणापत्र से कांग्रेस उसी कड़ी में एक कदम ओर नीचे गिर गई है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अफस्पा हटाने का वायदा कर सेना के मनोबल को गिराने का सपना देखा है, जिसे हर्गिज साकार नहीं होने दिया जाएगा। समय आ गया है, जब देश की जनता भली-भांति समझे कि जवानों के अधिकारों पर कुठाराघात, कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास और पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद पर चुप्पी साधना आतंकवादियों, अलगाववादियों, पाक प्रधानमंत्री और कांग्रेस का घोषणापत्र एक ही भाषा का प्रयोग कर रहे हैं।

No comments

Powered by Blogger.