Header Ads

Header ADS

Breaking: अभय चौटाला का नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा, बगावती इनेलो विधायकों के डिसक्वॉलिफिकेशन की स्पीकर से मांग



चंडीगढ़,
23 मार्च, 2019

राजनीतिक संकट से जूझ रही प्रदेश की विपक्षी पार्टी इंडियन नैशनल लोकदल (इनेलो) ने बगावती तेवर दिखाने वाले अपने विधायकों को आयोग्य ठहराने (disqualification) के लिए विधानसभा स्पीकर को पत्र लिखा है।

आज यहाँ एक प्रेस वार्ता के ज़रिये यह जानकारी देते हुए वरिष्ठ इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि उन्होंने नेता प्रतिपक्ष के पद से भी इस्तीफ़ा दे दिया है जबकि इनेलो छोड़ कर जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) में गए चार विधायक अनूप धानक, राजदीप फोगाट, नैना चौटाला और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हुए पिरथी सिंह व रणबीर गंगवा को डिस्क्वालिफाई करने के लिए स्पीकर को पत्र लिखा है।

चौटाला ने बताया कि स्पीकर को लिखे पत्र के साथ उन्होंने पाँचो विधायकों की पार्टी विरोधी गतिविधियों के प्रमाण भी भेजे हैं। चौटाला ने कहा कि स्पीकर को लिखे पत्र के साथ उन्होंने अपना सशर्त त्याग पत्र भी भेजा है, जिसमें कहा गया है कि यदि पांचों विधायकों की सदस्यता रद्द की जाती है तो मेरा भी नेता प्रतिपक्ष से त्यागपत्र मंजूर कर लिया जाए।


उन्होंने बताया कि साथ ही कल हिसार के सांसद और जेजेपी नेता दुष्यंत सिंह चौटाला के खिलाफ कार्रवाई को लेकर लोकसभा स्पीकर को भी पत्र लिखा जाएगा।
 
चौटाला ने कहा कि दुष्यंत इनेलो के चुनाव चिन्ह पर चुनाव जीत कर आए थे, लेकिन अब वह पार्टी के विरोध में काम कर रहे हैं और जेजेपी में शामिल होकर इनेलो के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। 

अभय चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी के साथ जब जब किसी ने गद्दारी की है वह दोबारा विधानसभा और संसद का मुंह नहीं देख पाया है। उन्होने दावा किया कि वो एक बार फिर विधानसभा में आएंगे लेकिन प्रदेश की जनता इनेलो के साथ गद्दारी करने वालों को सबक सिखाएगी।

No comments

Powered by Blogger.