Header Ads

Header ADS

सीनियर सैकेण्डरी परीक्षा में नकल करते 232 काबू, 3 सुपरवाईजरों की छुटटी



चंडीगढ़, 
15 मार्च, 2019

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक, रि-अपीयर व मुक्त विद्यालय) की 14 मार्च को संपन्न हुई इतिहास एवं जैव प्रौद्योगिकी विषयों की परीक्षा में नकल के 232 मामले पकड़े गए। 

इसके अलावा, ड्यूटी से कौताही बरतने पर प्रदेशभर में 3 सुपरवाईजरों को भी ड्यूटी से रिलीव किया गया।

विद्यालय शिक्षा बोर्ड के प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष के उडऩदस्ते द्वारा जिला भिवानी के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया, जहां नकल के 2 मामले पकड़े तथा बोर्ड सचिव के उडऩदस्ते द्वारा जिला भिवानी के बवानीखेड़ा, कुंगड़, पुर व मुंढाल के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया, जहां नकल का एक केस पकड़ा गया।

उन्होंने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष के विशेष उडऩदस्तों द्वारा जिला भिवानी, फरीदाबाद, फतेहाबाद, हिसार, करनाल, सिरसा, सोनीपत, यमुनानगर एवं नूंह के परीक्षा केंद्रों में नकल के 27 केस पकड़े तथा बोर्ड सचिव के विशेष उडऩदस्तों द्वारा जिला फरीदाबाद, गुरूग्राम, हिसार, जींद एवं चरखी दादरी के परीक्षा केंद्रों में नकल के 8 केस पकड़े। उन्होंने आगे बताया कि रैपिड एक्शन फोर्स ने 12 केस पकड़े तथा अन्य उडऩदस्तों द्वारा नकल के 182 मामले पकड़े गए।

प्रवक्ता ने आगे बताया कि ड्यूटी में लापरवाही के चलते प्रश्र-पत्र उडऩदस्ता, रोहतक द्वारा परीक्षा केंद्र वी.बी.व.मा.वि. सांपला-6 पर नियुक्त सुपरवाईजर संदीप, अंग्रेजी अध्यापक, रा.उ.वि. गिझी (रोहतक), सहायक निदेशक (प्रशासन) द्वारा परीक्षा केंद्र लिसेयुम मा.वि. महम-14 पर नियुक्त सुपरवाईजऱज्योति, अंग्रेजी प्रवक्ता, रा.व.मा.वि. फरमाना (रोहतक) तथा प्रश्र-पत्र उडऩदस्ता, जींद द्वारा परीक्षा केंद्र एस.डी. व.मा.वि. जींद-20 पर नियुक्त सुपरवाईजर प्रेमलता, अंग्रेजी प्रवक्ता, रा.क.व.मा.वि. अलेवा को कार्यभार मुक्त किया गया। इसके अतिरिक्त प्रश्र-पत्र उडऩदस्ता, जींद द्वारा 13 मार्च को संचालित हुई सैकेण्डरी के परीक्षा केंद्र रा.व.मा.वि. गढ़वाली खेड़ा पर नियुक्त सुपरवाईजर रामपाल, प्रवक्ता, एवरेस्ट उ.वि. बरात बुआना को कार्यभार मुक्त किया गया।

उन्होंने आगे यह भी बताया कि प्रदेशभर में चल रही वार्षिक परीक्षा मार्च-2019 के दौरान ड्यूटी पर कौताही बरतने के कारण रिलीव किए जा रहे स्टॉफ के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करने हेतु शिक्षा विभाग को पत्र लिख दिया गया है।

No comments

Powered by Blogger.