Header Ads

Header ADS

दुष्यंत के लोकसभा चुनाव में सौदेबाजी वाले अभय चौटाला के बयान पर राजनीतिक बवाल



चंडीगढ़, 
6 फरवरी, 2019

हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला द्वारा गत लोकसभा चुनाव में सौदेबाजी के आरोपों को लेकर प्रदेश की राजनीति में बवाल मच गया है और आरोप-प्रत्यरोपों का दौर शुरू हो गया है।



बुधवार को एक प्रेसवार्ता के दौरान अभय चौटाला ने आरोप लगाया कि उनके भाई अजय सिंह चौटाला ने अपने पुत्र दुष्यंत को हिसार से सांसद बनवाने के लिए जयप्रकाश और नवीन जिंदल से सौदेबाजी की थी।

अभय चौटाला के इस आरोप पर तीखी प्रक्रिया देते हुए वर्तमान में कलायत से निर्दलीय विधायक और वरिष्ठ नेता जयप्रकाश (जेपी) ने कहा है कि अभय सिंह चौटाला बेबुनियाद आरोप लगाते हैं।

जेपी ने कहा, "अजय सिंह चौटाला से मेरी कलायत और हिसार लोकसभा की मदद वाली बातें बेबुनियाद हैं
अभय सिंह अपने घर की लड़ाई में हमें ना फंसाए।"

अभय सिंह चौटाला को खुली चुनौती देते हुए जेपी ने कहा है कि अगर अभय सिंह चौटाला के पास रिकॉर्डिंग है दिखाएं अन्यथा माफी मांगे। सात दिनों में रिकॉर्डिंग नहीं दिखाई तो मैं समझूंगा अभय सिंह चौटाला अपना रास्ता भटक चुके हैं।

वहीँ जननायक जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने कहा है कि जींद उपचुनाव में ढाई प्रतिशत वोटों पर सिमटी इनेलो के नेताओं का मानसिक संतुलन हिल गया है और उन्हें पता नहीं चल रहा कि वे कैसी आधारहीन बातें किए जा रहे हैं।

निशान सिंह ने कहा, "अभय सिंह तो मीडिया में कहते थे कि दुष्यंत को वही जितवा कर लाए थे हिसार से, तो कहीं वे खुद की किसी सोच को तो नहीं दूसरों पर थोप रहे। वैसे भी जयप्रकाश ने तो कह ही दिया है कि अभय सिंह साफ झूठ बोल रहे हैं, जिन बाकी नेताओं का नाम उन्होंने लिया है, निश्चित तौर पर वे भी बता देंगे कि ये सब झूठ के अलावा कुछ नहीं। मुझे लगता है कि अगर बौखलाहट में वे (अभय सिंह) यूं ही तुक्के चलाते गए तो लोग उन्हें गंभीरता से लेना ही बंद कर देंगे। पिछले दो महीनों से लोकदल लगातार ऐसी नकारात्मक बातों को बढ़ावा दे रहा है जिनका ना हरियाणा के विकास से कोई लेना देना ना उनसे हरियाणा की राजनीति में कोई योगदान होने वाला।"

दरअसल, अभय सिंह ने आरोप लगाया था कि अजय सिंह चौटाला ने निर्दलीय विधायक जेपी और नवीन जिंदल से सौदेबाज़ी करके दुष्यंत चौटाला को सांसद बनाया था। अजय सिंह ने जेपी और नवीन जिंदल से लोकसभा में वोट की मदद मांगी थी और विधनसभा में मदद की सौदेबाजी की थी।



No comments

Powered by Blogger.