Header Ads

Header ADS

जींद के दंगल में उतारे गए दिग्गज, दिलचस्प हुआ मुकाबला



चंडीगढ़,
11 जनवरी, 2019

कृष्ण मिड्ढा ,रणदीप सुरजेवाला और दिग्विजय में होगा मुख्य मुकाबला।

विनोद आश्री और उमेद रेढू बदलेंगे समीकरण

आगामी 28 जनवरी होने वाले जींद विधानसभा उपचुनाव के लिए जैसे-जैसे राजनीतिक पार्टियों ने पत्ते खोलने शुरू किए, मुक़ाबला दिलचस्प हो गया है।

पिछले कईं दिनों से पार्टियों के पास सशक्त उम्मीदवारों के अभाव से लेकर फैलाई जा रही सभी भ्रांतियों पर तो विराम लगा ही साथ ही सभी राजनीतिक दलों ने दिग्गजों को मैदान में उतार कर यह भी साफ़ कर दिया कि वो इस उपचुनाव को बिलकुल भी हल्के में नहीं ले रहे।



सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तो जींद से दो बार विधायक रहे लोकप्रिय दिवंगत नेता हरिचंद मिड्डा के बेटे कृष्ण मिड्डा को टिकट देकर राजनीतिक दृष्टि से जातिगत व सहानुभूति जैसे समीकरणों को साधने की पहल कर दी थी, लेकिन बुधवार देर रात कांग्रेस ने मास्टर स्ट्रोक खेलते हुए अपने वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला को मैदान में उतार 'जाटलैंड' कहे जाने वाले जींद पर अपनी दावेदारी घोषित कर दी।




वर्तमान में कैथल से विधायक और पूर्व हरियाणा मंत्री रणदीप सुरजेवाला जैसे दिग्गज की जींद उपचुनाव के लिए घोषणा ने न सिर्फ राजनीतिक विश्लेषकों को अचंभे में डाल दिया बल्कि बाकी राजनीतिक दलों को भी यह सन्देश चला गया की 'ये उपचुनाव नहीं आसां बस इतना समझ लीजिए'।

रही-सही कसर जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) ने निकाल दी जब पार्टी ने अपने धुरंधर युवा नेता दिग्विजय सिंह चौटाला को अपना समर्थित उमीदवार घोषित किया।

पिछले महीने जींद में विशाल रैली कर शक्तिप्रदर्शन साबित करने वाले सांसद व जेजेपी नेता दुष्यंत ने उपचुनाव के लिए दिग्विजय के नाम की घोषणा करते हुए जींद से अपने पुराने नाते का हवाला देते हुए कहा की उनकी पार्टी के प्रेरणा स्त्रोत व जनप्रिय नेता देवी लाल ने भी जींद की भूमि को अपना पहला राजनीतिक रण का मैदान बनाया था और अब जेजेपी भी इसी इतिहास को रच रही है।




इसी के साथ इंडियन नैशनल स्टूडेंट आर्गेनाईजेशन (इनसो) के फायर ब्रैंड नेता दिग्विजय चौटाला की विधानसभा स्तर पर लॉन्चिंग भी हो गयी।

जींद जाट बहुल्य विधानसभा सीट है शायद इसी की ध्यान में रखते हुए इंडियन नैशनल लोकदल (इनेलो) ने भी जाट समुदाय से ही उम्मेद सिंह रेडू को अपना उम्मीदवार चुना। जिला परिषद के उप-चेयरमैन रेडू इनेलो-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार होंगे।



गैर-जाट की राजनीति के लिए चर्चाओं में रहने वाले कुरुक्षेत्र सांसद राजकुमार सैनी की पार्टी लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने पवन आश्री पर दांव खेला है।

यूँ तो मुख्य मुकाबला कृष्ण मिड्ढा, रणदीप सुरजेवाला और दिग्विजय चौटाला में है मगर विनोद आश्री और उमेद रेढू भी जींद में जातिगत समीकरणों को प्रभावित करेंगे।



No comments

Powered by Blogger.