Header Ads

Header ADS

मंत्री ग्रोवर के बाद अब सांसद सैनी ने कुरेदा हुड्डा का जाट आंदोलन हिंसा घाव



चंडीगढ़,
30 दिसंबर, 2018 

हरियाणा के सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के बाद अब लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी प्रमुख व कुरुक्षेत्र सांसद राजकुमार सैनी ने 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान प्रदेश में हुई हिंसा के लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर निशाना साधा है।

जाट आंदोलन के दौरान हुई प्रदेशव्यापी हिंसा के लिए पूर्व मुख्यमंत्री पर विवादित ब्यान देते हुए ने सैनी ने कहा है कि 2016 में घटित होने वाले कथित आंदोलन के दौरान हुए तांडव की नीव भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 2005 में ही रख दी थी।

आज यहाँ एक प्रेस सम्मलेन को सम्बोधित करते हुए सैनी ने कहा कि चार-पाँच सौ लोगों ने सरकार को कठपुतली बनाकर अपने मनसूबे हांसिल करने के लिए कमज़ोर तबके के हितों को साधने के काम किया।

सैनी ने यह भी कहा, "अगर मैं लोकसभा चुनाव लडूंगा तो भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ चुनाव लड़ूंगा।

गौरतलब है कि सैनी का जाट आंदोलन हिंसा को लेकर हुड्डा पर विवादस्पद बयान बड़े अहम समय पर आया है क्योंकि हालहि में हुड्डा ने ऐलान किया है कि मेयर चुनावों के दौरान विगत में जाट आरक्षण आन्दोलन को लेकर झूठे और मनघड़ंत आरोप लगाकर उनकी छवि खराब करने के लिए वो मंत्री मनीष ग्रोवर पर मानहानि का दावा ठोकने जा रहे हैं।

हुड्डा ने कहा है कि इस आशय का नोटिस भी मंत्री ग्रोवर को भेज भी दिया है।

बहरहाल, पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए राजकुमार सैनी ने पिछले पूर्व में मुख्यमंत्री रहे नेताओं पर पिछड़ा वर्ग की अनदेखी काआरोप भी लगाया और कहा कि पाँच मुख्यमंत्रियों ने मात्र 10 फीसदी लोगों को 50 से 55 फ़ीसदी नौकरी दी हुई हैं।

सैनी ने कहा कि भाजपा को और पीएम मोदी के नाम पर 90 फीसदी पिछड़ों ने भाजपा को वोट दिया लेकिन भाजपा सबका साथ सबका विकास के नारे पर नही चल पाई। हुड्डा और ओपी चौटाला के प्रति जनता की नाराज़गी है।

लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के विस्तार करते हुए सैनी ने पार्टी की प्रदेश कार्यकारिणी का किया ऐलान भी किया। महेंद्रगढ़ के रमेश राव पायलेट को प्रदेश अध्य्क्ष की जिम्मेदारी सौंपी व समालखा से भरत सिंह छोकर को उपाध्यक्ष बनाया है। सैनी ने लोकसभा चुनाव के लिए प्रभारियों का ऐलान भी किया।

सैनी ने कहा, "पहले ही, भाजपा को भेजे गए शपष्टीकरण में लिखित में बता दिया था मैं आपसे इत्तेफ़ाक नहीं रखता हूँ और मैं आपसे किनारा कर रहा हूँ। मुझे जनता ने चुनकर लोकसभा में भेजा है इसलिए वहां से इस्तीफा देने का कोई औचित्य नही।"

No comments

Powered by Blogger.