Header Ads

Header ADS

वर्षों बाद हरियाणा को मिला केएमपी एक्सप्रेस-वे, देरी के लिए पिछली सरकारों पर बरसे पीएम मोदी



चंडीगढ़,
19 नवंबर, 2018

कईं वर्षों से अटके पड़े बहुचर्चित कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे जिसे वेस्टर्न पेरीफेरल एस्प्रेस्स-वे के नाम से भी जाना जाता है, की सौगात आख़िरकार हरियाणा को मिल ही गयीl प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुग्राम के सुल्तानपुर में आयोजित विशाल जनसभा से बटन दबाकर आज केएमपी एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण कर इसे हरियाणा की जनता को सौंप दियाl

इसके अलावा उन्होंने करीब 500 की लागत से फरीदाबाद में बनी बल्लभगढ़-मुजेसर मेट्रो लाइन का उद्धघाटन किया व पलवल जिलेके दुधौला गाँव में बनने वाली देश की पहली स्किल युनिवर्सिटी विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का शिलान्यास भी सुल्तानपुर से कियाl

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इन परियोजनाओं के शुभारम्भ के साथ हरियाणा ने चौतरफा विकासके पथ पर एक और कदम दिया हैl ये परियोजनाएं हरियाणा में क्रांति लेकर आएँगीl

प्रधानमंत्री मोदी ने केएमपी एक्सप्रेस-वे के देरी से पूरा होने के लिए पिछली सरकारों को दोषी ठहराया हैl पिछली सरकारों को निशाने पर लेते हुए मोदी ने कहा कि केएमपी एक्सप्रेस-वे 8-9 साल पहले ही तैयार हो जाना था किन्तु पिछली सरकारों की अनदेखी की वजह से यह परियोजना पूरा होने में न सिर्फ 12 वर्ष के करीब का समय लगा बल्कि इसकी लागत भी तीन गुना तक बढ़ गयी और जहाँ केएमपी एक्सप्रेस-वे तकरीबन 1200 करोड़ रूपये में बनकर तैयार होना था अब उसे पूरा करने में 3300 करोड़ से ज्यादा रुपये लगेl

मोदी ने कहा कि पिछ्ली सरकारों के दौरान जिस तरह से काम होताथा वो एक केस स्टडी हैकि कैसे जनता का पैसा बर्बाद किया जाता थाl

उन्होंने कहा की पिछली सरकारों ने केएमपी एक्सप्रेस-वे के निर्माण को लटकाकर और दिल्ली, एनसीआर व हरियाणा के लोगों को कईं वर्षों तक इससे वांछित रखाl मोदी ने कहा की मौजूदा बीजेपी सरकार ने पूर्व की सरकारों से ज्यादा सड़कें बनवाई हैंl पिछली सरकारों के समय जहाँ प्रतिदिन केवल 12 किमी सड़क बनती थी वहीँ इस सरकार में 27 किमी सड़क प्रतिदिन बन रही हैl

विश्वकर्मा स्किल विश्वविद्यालय को बड़ा कदम बताते हुए उन्होंने कहा कि यह संस्थान स्किल ट्रेनिंग युवाओं को अपना काम शुरू करने केलिए भी प्रेरित करेगाl

जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि केएमपी एक्सप्रेस-वे हरियाणा के लिए 'इकनोमिक कॉरिडोर' (आर्थिक गलियारा) साबित होगा जहाँ उद्द्योग पनपेंगे और राज्य का और विकास होगाl

खट्टर ने कहा कि केएमपी एक्सप्रेस-वे की शुरुआत के साथ बड़े पैमाने पर वाहनों का आवगमन दिल्ली के बाहर से होगा और इससे राष्ट्रीय राजधानी से न सिर्फ यातायात कबोझ घटेगा बल्कि प्रदूषण भी कम होगाl

मुख्यमंत्री ने बताया कि मौजूदा बीजेपी सरकार के दौरान हरियाणा को कईं राष्ट्रीय राजमार्गो की सौगात मिली है और सड़क परिवहन के अलावा, मौजूदा सरकार प्रदेश में रेल और हवाई परिवहन को बढ़ावा देने के लिए भी अग्रसर हैl आनेवाले समय में प्रदेश को रैपिड रेल मार्गों की सौगात मिलेगी और हिसार में एयरपोर्ट भी बनाया जाएगाl

केएमपी एक्सप्रेस-वे को 2003 में तत्कालीन वाजपेयी सरकार के दौरान प्लान किया गया था किन्तु बड़े सारे आधिकारिक व कानूनी झमेलों के बाद आखिरकार 135 किलोमीटर लम्बा एक्सप्रेस-वे आख़िरकार बनकर पूरा हो ही गयाl

मानेसर से पलवल तक इसका पहला चरण 2 साल पहले ही पूरा हो गया थाl आज केएमपी के दुसरे चरण कुंडली से मानेसर तक के 83 किमी लम्बे मार्ग का लोकार्पण हुआ हैl

माना जा रहा है के केएमपी एक्सप्रेस-वे एक वर्ल्ड क्लास प्रोजेक्ट हैl जहाँ सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हर 14 किमी के बाद एम्बुलेंस और रिकवरी वाहनों का प्रावधान है वहीँ हरियाणा की धरोहर से रूबरू कराने के लिए एक डिजिटल आर्ट गैलेरी भी बनाई गयी है और प्रदेश की संस्कृति से जुडी 20 से अधिक मूर्तियों को एक्सप्रेस-वे पर लगाई जाएंगीl 

No comments

Powered by Blogger.