Header Ads

Header ADS

19 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी हरियाणा में करेंगे कईं परियोजनाओं का शुभारम्भ



चंडीगढ़,
16 नवंबर, 2018
  
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 19 नवंबर को हरियाणा आ रहे हैं। गुरूग्राम जिला के गांव सुल्तानपुर में अपने दौरे के दौरान प्रधानमंत्री मोदी हरियाणा के लोगों को कईं सौगातें भेंट करेंगे। इस दौरान मोदी कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रैस-वे का उदघाटन करेगें, विश्वकर्मा कौशल युनिवर्सिटी की आधारशिला रखेंगे और एसकॉर्ट-मुजेसर-बल्लभगढ़ मैट्रो भाग का उद्घाटन करेंगे।

जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी गुरूग्राम सुल्तानपुर में 6400 करोड़ रुपये की लागत वाले कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रैस-वे का उदघाटन करेगें। कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रैस-वे परियोजना के लिए 2988 करोड़ रुपये की राशि से 3846 एकड़ भूमि का अधिग्रहण हुआ है।

इस बारे में जानकारी देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि कुंडली से मानेसर तक यह 6 लेन एक्सप्रैस-वे 83.320 किलोमीटर लंबा है । इस हिस्से पर 4 आरओबी, 14 छोटे-बड़े ब्रिज मिलाकर, 56 एग्रीकल्चरल व्हीक्यूलर अंडरपास व अन्य अंडरपास, 7 इंटरसैक्शन तथा 7 टोल प्लाजा बनाए गए हैं। इस हिस्से पर मीडियन की चैड़ाई 8 मीटर रखी गई है। पहले यात्रियों के लिए खोले जा चुके मानेसर-पलवल एक्सप्रैस-वे की लंबाई लगभग 52.330 किलोमीटर है जिस पर 32 एग्रीकल्चरल व्हीक्यूलर अंडरपास व अन्य अंडरपास, 3 इंटरसैक्शन तथा 4 टोल प्लाजा बनाए गए है। मानेसर से पलवल तक के इस हिस्से पर 15 जुलाई 2018 से टोल क्लेक्शन का काम शुरू किया जा चुका है। इस एक्सप्रैस-वे को इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि लाइट व्हीकल 120 किलोमीटर प्रति घंटा तथा हैवी व्हीकल 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफतार से चल सकते हैं। 

प्रवक्ता ने बताया कि उत्तरी हरियाणा को दक्षिणी जिलों से जोडकऱ उन्हें हाई स्पीड क्नेक्टिविटी देने के उद्देश्य से इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया गया है। इस एक्सप्रैस-वे के शुरू होने से औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने के साथ साथ उन्हें प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों के जिलों से बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी। बेहतर कनेक्टिविटी मिलने के साथ साथ दिल्ली एनसीआर क्षेत्रों में प्रदूषण के स्तर में भी गिरावट आएगी।
उसी दिन गुरुग्राम से ही प्रधानमंत्री पलवल जिला के गांव दुधौला में बनने वाली श्री विश्वकर्मा कौशल युनिवर्सिटी की आधारशिला भी रखेंगे। इस यूनिवर्सिटी की पूरी परियोजना पर लगभग 1000 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।

श्रमेव जयते की अवधारणा पर आधारित इस कौशल विश्वविद्यालय का नाम पहले हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय रखा गया था जिसे बदलकर अब श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय कर दिया गया है। गांव दुधौला में यह कैंपस 82.7 एकड़ भूमि में विकसित किया जाएगा। इस विश्वविद्यालय की कैंपस बिल्डिंग के निर्माण के लिए इस वर्ष 389.24 करोड़ रुपये के टैंडर भी किए जा चुके है। इस विश्वविद्यालय का निर्माण तीन चरणों मे करवाया जाएगा। पहला चरण वर्ष-2020 तक पूरा किए जाने की योजना है। 
19 नवंबर को गुरूग्राम से ही मोदी एसकॉर्ट मुजेसर-राजा नाहर सिंह (बल्लभगढ़) मैट्रो भाग, जो कश्मीरी गेट-एसकॉर्ट मुजेसर से जुड़ा हुआ है, का उद्घाटन भी करेंगे।
एसकॉर्ट मुजेसर- राजा नाहर सिंह मैट्रो भाग 3.2 किलोमीटर लम्बा है, जो मैट्रो की वायलट लाइन से जुड़ा हुआ है। इस भाग पर संत सूरदास (सिही) और राजा नाहर सिंह के नाम से 2 स्टेशन होंगे। 

गुरूग्राम फरीदाबाद और बहादुरगढ़ के बाद मैट्रो से जुडऩे वाला बल्लभगढ़ हरियाणा का चौथा शहर है। इस विस्तार के बाद कश्मीरी गेट-राजा नाहर सिंह मैट्रो कॉरीडोर 46.6 किलोमीटर लम्बा होगा। वर्तमान में, हरियाणा में 25.8 किलोमीटर मेट्रो लाइनें संचालित हैं और इस भाग के शुरू होने के बाद यह लम्बाई 29 किलोमीटर हो जाएगी। इस सैक्शन पर भारत में निर्मित मैट्रो चलेंगी। 

 

No comments

Powered by Blogger.