Header Ads

Header ADS

केजरीवाल की खट्टर सरकार को स्कूलों, अस्पतालों पर चुनौती



चंडीगढ़ 
1 नवंबर , 2018 
आजकल हरियाणा में अपनी राजनीतिक पैठ बढ़ाने में लगे आम आदमी पार्टी (आप) सुप्रीमो व दिल्ली  मुख्यमंत्री रविंद केजरीवाल ने सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी समेत और कांग्रेस समेत तमाम राजनीतिक दलों पर प्रहार करते हए स्कूल और अस्पताल की राजनीति करने की चुनौती दी है। 

आज यहाँ पत्रकारों से बात करते हुए केजरीवाल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मोहल्ला क्लीनिक चुनौती को स्वीकारते हुए अस्पतालों और स्कूलों पर चुनौती दे डाली है।

केजरीवाल ने कहा कि मैं हरियाणा के पांच अस्पतालों और पांच स्कूलों का दौरा करूंगा और मनोहर लाल खट्टर दिन मुकर्रर करें। मैं उन्हें पत्र लिखूंगा वे दिल्ली में पांच मोहल्ला क्लीनिक और पांच स्कूलों का दौरा करें।

केजरीवाल ने कहा, "मुख्यमंत्री खट्टर अब वह दिन तय करें और मैं 12 नवंबर को हरियाणा के पांच स्कूलों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का दौरा करूंगा। इनमें से तीन मै चुनूंगा और दो जो सबसे अच्छे लगते हैं वह सरकार चुनें। इस तुलना से साफ हो जाएगा की अस्पताल और स्कूलों को लेकर किस पार्टी की सरकार ने जमीनी स्तर पर काम किया है"।

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली के स्कूल और अस्पताल प्राइवेट स्कूल और अस्पतालों से भी बेहतर हो गए हैं। केजरीवाल ने मुख्यमंत्री खट्टर पर अफसरशाही से घिरे होने का आरोप लगाया है।

साथ ही उन्होंने हरियाणा दिवस के मौके पर पूर्व में कांग्रेस, इनेलो के साथ साथ वर्तमान की भाजपा सरकार पर भी जमकर प्रहार किए और कहा कि इनेलो सत्ता में आई तो उसने गुंडागर्दी फैलाई। कांग्रेस की सरकार रही तो उन्होंने सीएलयू से पैसे कमाए। केजरीवाल ने खट्टर सरकार को भी लपेटा। उन्होंने कहा कि यह भाजपा की खटारा सरकार है। 

इन दिनों गरमाए राम जन्म भूमि अयोध्या मुद्दे पर भी केजरीवाल ने  भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हम मंदिर मस्जिद की राजनीति नहीं करते। हम अस्पताल की राजनीति करते हैं देश का कोई दूसरा राजनीतिक संगठन जो सत्ता में रहा है यदि उसे वास्तव में काम किया है तो वह स्कूल और अस्पताल की राजनीति करके दिखाएं। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोगों को अपने बच्चों के लिए अच्छे स्कूलों और स्वास्थ्य के लिए अच्छे अस्पतालों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभी लोगों को तय करना है कि वह
मंदिर मस्जिद के लिए वोट दें या फिर अच्छे स्कूलों अस्पतालों के लिए।

पराली जलाने के मुद्दे पर बोलते हुए  केजरीवाल ने सेटेलाइट से लिया गया चित्र दिखाया। इस चित्र का हवाला देते हुए केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा में सिर्फ अंबाला के आसपास आग जलने की तस्वीरें हैं, जबकि पंजाब में सबसे ज्यादा आग जलाई जा रही है। साथ ही अरविंद केजरीवाल ने सवाल उठाया कि दिल्ली में हर साल 25 अक्टूबर से 20 नवंबर तक प्रदूषण क्यों बढ़ता है? उन्होंने कहा कि इसकी वजह सिर्फ और सिर्फ पराली की आग है। अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन की मुलाकात का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने पंचायतों को हैप्पी सीडर देने का भरोसा दिलाया था ताकि किसान पाली में आग ना लगाएं, लेकिन उसे अमलीजामा क्यों नहीं पहनाया गया। 

एसवाईएल नहर के मुद्दे पर पहले पंजाब की तरफदारी कर चुके अरविंद केजरीवाल इस बार सधे हुए नजर आए और कहा कि एसवाईएल का निर्माण सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार होना चाहिए। साथ ही सवाल उठाया कि कांग्रेस, इनलो और अकाली के साथ साथ बीजेपी की भी सरकारें रही हैं लेकिन तब एसवाईएल का निर्माण क्यों नहीं किया गया?

No comments

Powered by Blogger.