Header Ads

Header ADS

"2019 रण" से पहले राजनीतिक दलों के लिए आइना साबित होंगे निकाय चुनाव



चंडीगढ़,
29 नवंबर, 2018

आगामी 16 दिसम्बर को हरियाणा के पाँच नगर निगमों व दो नगर पालिकाओं में होने वाले चुनाव को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा गई हैl हर राजनीतिक दल निकाय चुनावों में अपनी दावेदारी जाता रहा हैl

सुशासन के दावे पर अडिग सत्तारूढ़ बीजेपी जहाँ कथित तौर पर कमज़ोर विपक्ष के अलावा बड़ी सारी बातों को अपने पक्ष मैं मान के चल रही है तो वहीँ गुटों में बँटे विपक्षी दलों इनेलो व कांग्रेस का मानना है की सरकार पूरी तरह विफल है वो हर हाल में एक-दूसरे से बेहतर विकल्प हैंl   

इस कोलाहल के बीच अगर कुछ निश्चित है तो ये के अगले महीने प्रदेश के पांच नगर निगमों हिसार, रोहतक, यमुनानगर, पानीपत और करनाल में होने वाले मतदान हरियाणा के राजनीतिक दलों के लिए आने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए आइना साबित होंगेl

लोकसभा और विधानसभा रण से पहले हरियाणा में होने वाले ये निकाय चुनाव जहाँ अपने समय-निर्धारण के हिसाब से बड़े मायने रखते हैं वहीँ प्रदेश की राजनीति में इनका और भी महत्व हैl

पांच नगर निगमों में से एक करनाल जहाँ वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मौजूदा कर्मभूमि है तो रोहतक पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश की राजनीती में दिग्गज माने जाने वाले भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का गढ़ हैl वहीँ हिसार अन्य पूर्व मुख्यमंत्री और राजनीति में पीएचडी कहे जाने वाले भजन लाल का क्षेत्र है जिनकी विरासत को संभाल रहे उनके सुपुत्र कुलदीप बिश्नोई ने हजका विलय के बाद कांग्रेस में असरदार वापसी की हैl

साथ ही यमुनानगर और पानीपत के नतीजों से सत्तारूढ़ बीजेपी के उसके उत्तरी हरियाणा और जीटी रोड बेल्ट में अधिपत्य के दावों की वास्तविकता का भी पता चलेगाl

बहरहाल, पूर्व में देश और राज्य में राज करने वाली कांग्रेस ने अगले महीने हरियाणा में होने वाले निकाय चुनावों में पार्टी सिंबल पर न लड़ने का फैसला लिया हैl  यह निर्णय पार्टी के कईं वरिष्ठ नेताओं के बीच दिल्ली में आज हुई बैठक में लिया गयाl

सूत्रों के अनुसार हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष निकाय चुनाव पार्टी सिंबल पर लड़ने के पक्ष में थे जबकि हुड्डा और कुछ दूसरे नेता पार्टी सिंबल पर न लड़ने के लक्ष में थेl

कांग्रेस के पार्टी सिंबल पर ना लड़ने के ऐलान पर सत्तारूढ़ बीजेपी और इनेलो ने चुटकी लेते हुएकहा कहा कि कांग्रेस पार्टी चुनाव से भाग रही हैl

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज कहा कि कांग्रेस निकाय चुनावों से पहले ही भाग रही है, इनेलो भी चुनाव से भाग गई है अब मैदान में सिर्फ भाजपा हैl

उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता एक दूसरे से झगड़ रहे हैं और उलझ रहे हैंl लोकतंत्र में सभी को पता है इन सब बातों के मायने क्या हैंl

वहीँ विधानसभा में नेता प्रतिपक्छ और वरिष्ठ इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने आज कहा कि चूँकि कांग्रेस अपना जनाधार खो चुकी है और इसी डर से पार्टी सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ रहीl

चौटाला का दावा है की रोहतक को अपना गढ़ मानने वाले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को भी अब निकाय चुनावों में रोहतक में हार का डर सताता है और बहुत सारे धड़ों में बंटी हुई उनकी पार्टी को पता है कि  जनाधार के अभाव में हार निश्चित है, इसलिए निकाय चुनावों में पार्टी सिंबल पर नहीं लड़ रहेl

चौटाला का कहना है की सत्तरूढ़ बीजेपी के पास भी चुनाव लड़वाने के लिए पर्याप्त उम्मीदवार नहीं हैंl

हिसार, रोहतक, यमुनानगर, पानीपत और करनाल के नगर निगमों व जाखल मंडी (फतेहाबाद) और पुंडरी (कैथल) के नगरपालिकों के सभी वार्डों में पार्षदों व महापौर की सीटों के लिए आगामी 16 दिसंबर को मतदान होने हैंl




No comments

Powered by Blogger.