Header Ads

Header ADS

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार को लिखा पत्र




चण्डीगढ़: अक्टूबर महीने के दौरान बेमौसमी और लगातार भारी वर्षा के कारण धान की गुणवत्ता प्रभावित होने के दृष्टिगत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल  खट्टर ने केन्द्रीय खाद्यए नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले राज्य मंत्री राम विलास पासवान से धान की निर्धारित स्पैसिफिकेशन और मिल्ड चावल यानि टूटेए खराब और बदरंग हुए चावलों में छूट देने का अनुरोध किया है।

इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा राम विलास पासवान को एक पत्र लिखा गया है।मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि धान जो निर्धारित स्पैसिफिकेशन के अनुसार खरीदी गई हैए से निर्धारित स्पैसिफिकेशन का चावल नहीं निकाला जा सकता। इसकी स्पैसिफिकेशन में 67 प्रतिशत प्राप्तिए 25 प्रतिशत टूटे हुएए 3 प्रतिशत खराब और 3 प्रतिशत बदरंग शामिल हैं। इस प्रकार विकट परिस्थितियों के दृष्टिगत किसानों को उनकी उपज का लाभप्रद मूल्य दिलाने  के लिए उपरोक्त स्पैसिफिकेशन में छूट दी जानी आवश्यक है।

खट्टर ने अनुरोध किया कि हरियाणा राज्य को उपज में 67 प्रतिशत से 64 प्रतिशत के अनुपात में और खराब व बदरंग अनाज के सम्बन्ध में 3रू3 से 5रू5 तक तथा टूटे दानों में 25 प्रतिशत से 30 प्रतिशत और बिना किसी मूल्य कटौती के चावल नमी में 0ण्5 प्रतिशत की छूट दी जाए।

No comments

Powered by Blogger.