Header Ads

Header ADS

जानिए खट्टर सरकार के इस साल के बजट की क्या हैं मुख्य बातें

 


चंडीगढ़,

8 मार्च, 2022 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा के लिए वर्ष 2022-23 के लिए 1.77 लाख करोड़ का बजट पेश कर इसे 'वज्र बजट' बताया है और दावा किया है कि मौजूदा बजट की पांच शक्तियां हैं - समर्थ हरियाणा, अन्तोदय, सतत विकास, संतुलित पर्यावरण व सहभागिता। 

बहुत सारी नई योजनाओं व पुरस्कारों वाले इस साल के बजट की जानिये महत्वपूर्ण घोषणाएं ---

सुषमा स्वराज पुरस्कार - राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान एंव उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए हरियाणा की महिलाओं के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र व पांच लाख का नकद। 

हरियाणा मातृशक्ति उद्यमिता योजना - पांच लाख वार्षिक आय से कम वाले परिवारों की महिलाओं के लिए उद्यमी बनने की चाह रखने वाली औरतों के लिए काम ब्याज पर ऋण सुविधा। 

बड़े शहरों खासकर फरीदाबाद, गुरुग्राम व पंचकूला में कामकाजी महिलाओं के लिए सुरक्षित एंव आवास योजना। 

प्राकृतिक एंव जैविक खेती को प्रोत्साहन हेतु 100 कलस्टर्स में 'उत्पादन आधारित प्रोत्साहन कार्यक्रम'। 

हैफेड द्वारा 'गुड ईकाइयां' स्थापित करना। 

सभी जिलों में दूध व दुग्ध और अन्य उत्पादनों की जांच के लिए प्रयोगशालाएँ। 

एकमुश्त निपटान योजना - 30 नवंबर, 2022 तक फसली ऋण, लघु या मध्यम अवधि के ऋणों की मूल राशि के भुगतान करने पर किसानों की दण्डात्मक ब्याज सहित ब्याज की पूरी राशि माफ़। 

प्रदूषण कम करने हेतु हर जिले में हॉट स्पॉट को ग्रीन स्पॉट में बदलना व प्रदेशभर में 100 'वायु गुणवत्ता निगरानी केंद्र'। 

ईको पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु 'ईको टूरिज्म नीति', वृक्ष-गणना व जियो टैगिंग। 

प्रदेश में 10 हाईटेक नर्सरियां। 

बेटियों को सुरक्षित व सुलभ परिवहन सुविधा देने के लिए 'साथी' योजना। 

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 10वीं से 12वीं कक्षा तक के सभी विद्यार्थियों को मुफ्त टेबलेट्स। 

अगले तीन वर्षों में 362 नए संस्कृति मॉडल स्कूल। 

उप-मंडलीय अस्पतालों को आक्सीजन सुविधा सहित 100 बिस्तरों के अस्पताल में अपग्रेड करना। 

कईं जिलों में और नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना। 

एलोपैथी व आयुष उपचार पध्दतियों के लिए संयुक्त अनुसंधान केंद्र की स्थापना। 

अगले दो वर्षों में एक लाख युवाओं को प्रशिक्षण व प्लेसमेंट रोजगार दिलवाने के लिए 'हरियाणा विदेश रोजगार प्लेसमेंट सेल' की स्थापना। 

'प्रधानमंत्री आवास योजना - शहरी' में 20,००० नए घरों का निर्माण। 

राष्ट्रीय खेल संसथान की तर्ज़ पर पंचकूला में हरियाणा राज्य खेल संसथान की स्थापना। 

प्रदेश में 1100 नई खेल नर्सरियां खोलने का लक्ष्य। 

आईएमटी के विकास के लिए 1000 करोड़ रूपये की राशि का प्रावधान। 

रोडवेज़ के बेड़े में 2000 नई बसें शामिल करने का लक्ष्य। 

जिला परिषदों को दी जाने वाली निधि का अनुपात 10 से बढाकर 15 प्रतिशत। 

ग्रामीण सड़कों के रखरखाव व मरम्मत की जिम्मेवारी जिला परिषद् को। 

गावों में लाइब्रेरी स्थापित करने की योजना। 

प्रदेश में 21 साइबर पुलिस स्टेशन स्थापित करने का लक्ष्य। 

पुलिसकर्मियों के लिए 2000 नए मकान बनाने का लक्ष्य। 


कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.